Wednesday, 23 January 2013

छोटी कविता : 6

छोटी कविता : 6

सपने देखने की भी एक उम्र होती है।
उस उम्र के बीतने का अहसास
छोड़ गया है मुझे
खालीपन के अहसास के बीच।
मैं वापस लौट रही हूँ
अपनी खोह में।
तुम मुझे लौटाना नहीं।
मेरे पास आना नहीं।

No comments:

Post a Comment