Friday, 6 September 2013

छोटी कविता : 17

छोटी कविता

तुम दौड़ सकते हो
सीधी-सपाट सड़क पर.
गतिरोधक हों तो
चलना भी दुश्वार तुम्हें।
यह मेरी शिकायत नहीं
सस्वर चिंतन है 
शायद तुम सीख लो
अपना ख्याल खुद रखना।

No comments:

Post a Comment