Tuesday, 31 March 2015

भारतरत्न अटल जी को प्रणाम

भारतरत्न अटल जी को प्रणाम

एक मित्र ने मुझे मैसेज में बताया कि बलराज मधोक, जो भारतीय जनसंघ के अध्यक्ष और एक वरिष्ठ नेता रहे हैं. ने अपनी आत्मकथा 'ज़िन्दगी का सफर' में अटल बिहारी वाजपेयी जी के युवावस्था के कुछ अनर्गल अंतरंग प्रसंगों के बारे में जगदीश प्र. माथुर के बताए कुछ किस्से लिखे हैं, यह भी लिखा है कि उन्होंने (बलराज मधोक ने) अटल जी को बुला कर बात की और अटल जी के जवाब से बात साफ़ हो गई. (यानि अटल जी पर जो आरोप लगाया जा रहा था. वह ख़त्म हो गया. मुझे तो यही समझ आया कि बलराज मधोक की ग़लतफ़हमी दूर हो गई.)

वैसे अटल जी ने प्रधानमंत्री बनने के बाद एक साक्षात्कार में कहा था कि उनके सम्बन्ध राजकुमारी कौल के साथ रहे, राजकुमारी कौल के पति प्रोफ़ेसर बी. एन. कौल भी उनके अच्छे मित्र थे. अटल जी उनके घर पर साथ ही रहते थे, मित्र ने भी उन्हें बाइज़्ज़त स्वीकारा हुआ था, उनके बच्चे भी उन्हें पितृवत मानते थे. राजकुमारी कौल की पुत्री नमिता को उन्होंने ऑफिशियली अडॉप्ट किया था जिसके बारे में ये अटकलें भी लगाई जाती हैं कि वे नमिता के बायोलॉजिकल फादर हैं. अटल जी ने कभी विवाह नहीं किया और मित्र के परिवार को ही अपना परिवार माना। श्रीमती कौल का निधन पिछले वर्ष हुआ.

हरेक की युवावस्था में कुछ न कुछ होता है. आखिर ये लोग भी इंसान हैं. मेरे विचार में व्यक्तिगत बातों से अधिक अन्य किए गए अच्छे काम व्यक्ति को महान बनाते हैं. ये सब बातें धरी की धरी रह जाती हैं. इसलिए किसी बड़े सुप्रसिद्ध व्यक्ति के बारे में जब कोई गलत बोलता है तो मुझे अच्छा नहीं लगता। अटल जी एक महान नेता थे, एक सफल प्रधानमन्त्री थे. एक अच्छे इंसान और एक बढ़िया कवि हैं. उन्हें भारत रत्न मिलने पर मेरी तरह बहुत लोग खुश होंगे।


1 comment: