Sunday, 12 April 2015

ब्लड टेस्ट

ब्लड टेस्ट

मेरी समझ में एक बात नहीं आ रही, वह यह कि ब्लड टेस्ट करने के लिए ब्लड निकालते वक़्त मेरी किसी वेन (नस) में खून नहीं मिलता, आठ साल पहले हुई कीमोथेरेपी और रेडिओथेरेपी के बाद जैसे सारा खून जल गया है लेकिन उस दिन जो इतना खून निकला, वह कैसे निकला? अब आप हमदर्दी न दिखायेगा। मैं जानती हूँ कि आप सब मुझसे बेहद प्यार करते हैं, मैं सिर्फ अपनी इस जिज्ञासा को शांत करने के लिए यह बात अब ठीक होने के बाद पूछ रही हूँ कि जब हाथ की नसों में खून नहीं मिलता तो चोट लगने पर इतना खून कहाँ से निकलता है? याद है ना, मेरी कार का ऐक्सिडेंट, जब मैंने कहा था कि मुझे कोई चोट नहीं लगी? तब मेरा चेहरा बिगड़ गया था, होंठ बुरी तरह कट गया था, उसमें ग्यारह स्टिचेज़ (टाँके) आए थे जो सेल्फ डिज़ॉल्व होकर अब ठीक हो गए हैं. उस समय चोट की तकलीफ से अधिक यह तकलीफ कि हाय राम ! मैं तो कहीं मुँह दिखाने के लायक नहीं रही. क्या तो खून निकला, मेरा सारा दुपट्टा खून से लथपथ। खुदा का शुक्र था कि इंजेक्शन और स्टिचेज़ लगने में ज़रा भी महसूस नहीं हुआ. तो जब अंदर इतना खून होता है तो टेस्ट किए जाने के लिए क्यों नहीं मिलता? यह बात भी अजब-गजब है. प्लीज़, च्च च्च न करें, मैं पूर्ण स्वस्थ-मंगल हूँ. बस एक नुकसान हुआ है, मेरे हाथ से कार तो नहीं छिनी, हाँ, एक ड्राइवर थमा दिया गया है.

No comments:

Post a Comment